Breaking News

बारां विश्व जल दिवस के उपलक्ष में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा थीम “भूजल अदृश्य को दृश्यमान बनाना’’ कार्यशाला आयोजित की गई।

विश्व जल दिवस पर कार्यशाला का आयोजन

बारां, 22 मार्च। विश्व जल दिवस के उपलक्ष में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा थीम “भूजल अदृश्य को दृश्यमान बनाना’’ कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में अध्यक्ष जिला जल स्वच्छता मिशन नरेन्द्र गुप्ता ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 1993 में 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाना निर्धारित किया गया है जिसका उद्देश्य जल संरक्षण के साथ स्वच्छ एवं सुरक्षित जल की उपलब्धता सुनिश्चित करना है। इस मौके पर उन्होंने प्रत्येक नागरिक से जल की बूंद-बूंद सहेजने की अपील की। कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि अतिरिक्त जिला एवं सेशन न्यायाधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राजेश मीणा ने कहा कि विश्व जल दिवस का प्रमुख उद्देश्य जल के महत्व के बारे में आमजन में जागरूकता पैदा करना है अतः जल संरक्षण के लिए प्रत्येक व्यक्ति को सहभागिता निभानी चाहिए। अधीक्षण अभियंता पीएचईडी पीके बागला ने विश्व जल दिवस मनाए जाने के उद्देश्य एवं महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में अधीक्षण अभियंता जल संसाधन विभाग हेमंत शर्मा एवं भूजल वैज्ञानिक डॉ. प्रवाल अथैया द्वारा जल संरक्षण तथा वर्षा के पानी द्वारा भूजल के पुनर्भरण तथा रिचार्ज की विभिन्न तकनीकी पहलुओं पर पावर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से जानकारी उपलब्ध करायी गयी। इस कार्यशाला में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिशाषी अभियंता अरविंद खींची, अधिशाषी अभियंता परियोजना मनीश भट्ट, अधिशाषी अभियंता एवं तकनीकी सहायक प्रमोद कुमार झालानी एवं सहायक अभियंताओं के द्वारा कार्यशाला में विश्व जल दिवस के महत्व पर अपने विचार व्यक्त किए।
कार्यक्रम का संचालन एचआरडी कॉर्डिनेटर डीपीएमयू जगमोहन शर्मा के द्वारा किया गया। कार्यशाला में पीपीटी के माध्यम से पिरामल फाउंडेशन, आईएसए एवं डीपीएमयू की ओर से जल जीवन मिशन के बारे में जानकारी दी गई तथा ग्राम जल स्वच्छता समिति की जिम्मेदारी एवं दायित्व के बारे में चर्चा की गई। इस कार्यशाला में ग्राम जल स्वच्छता समिति के अध्यक्ष, सरपंच एवं सचिव तथा ग्राम जल स्वच्छता समिति, आईएसए, डीपीएमयू एवं आईआईआरडी के सदस्यों ने भाग लिया। कार्यशाला में जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्र में घर-घर नल उपलब्ध कराने में समुदाय की सहभागिता एवं अंशदान के बारे में भी चर्चा की गयी।

Check Also

बारां:आयुर्वेद चिकित्सकों ने संगोष्ठी कर मनाई महर्षि चरक जयंती

🔊 इस खबर को सुने बारां 2 अगस्त। ब्लॉक के आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारियों द्वारा मंगलवार …

error: Content is protected !!